मुद्दा आपका - सौर ऊर्जा : भविष्य का रास्ता

हम बात सौर उर्जा की करेंगे। कारण भारत सरकार ने 2022 के अंत तक 175 गीगावाट नवीकरणीय ऊर्जा क्षमता का लक्ष्य निर्धारित किया है। इसमें पवन ऊर्जा से 60 गीगावाट, सौर ऊर्जा से 100 गीगावाट, बायोमास ऊर्जा से 10 गीगावाट और लघु जल विद्युत परियोजनाओं से पांच गीगावॉट शामिल है। वर्ष 2035 तक देश में सौर ऊर्जा की मांग सात गुना तक बढ़ने की संभावना है। इस बीच भारत ने फ्रांस के सहयोग से अंतरराष्ट्रीय सौर गठबंधन की नींव रखी है। इसमें शामिल करीब 121 देश ऊर्जा के जीवाश्म ईंधनों से इतर विकल्पों को अपनाने के लिए एकजुट हुए हैं। इस सौर गठबंधन की पहल पर वर्ष 2030 तक विश्व में सौर ऊर्जा के माध्यम से एक ट्रिलियन वाट यानी एक हजार गीगावाट ऊर्जा उत्पादन का लक्ष्य रखा गया है। इससे यह अनुमान लगाया जा सकता है कि सौर ऊर्जा के माध्यम से ऊर्जा के मोर्चे पर एक नई क्रांति की आधारशिला रखने के ठोस प्रयास आकार लेने लगे हैं। माना जा रहा है कि यदि भारत में सौर ऊर्जा का इस्तेमाल बढ़ाया जा सकेगा तो इससे जीडीपी दर भी बढ़ेगी और भारत सुपरपावर बनने की राह पर भी आगे बढ़ सकेगा।

Guests:
1- Dr. Ajay Mathur, Director General, International Solar Alliance
2- Prafulla Pathak, President , Solar Energy Society of India
3- Bharat Bhut, Member, ASSOCHAM New Renewable Energy Council/ Co-Founder and Director, Goldi Solar

Anchor: Manoj Verma

Producer: Pardeep Kumar

Assistant Producer: Surender Sharma

Follow us on:
-Twitter: https://twitter.com/sansad_tv
-Insta: https://www.instagram.com/sansad.tv
-FB: https://www.facebook.com/SansadTelevi…
-Koo: https://www.kooapp.com/profile/Sansad_TV