मुद्दा आपका : दीपावली - मेक इन इंडिया

आज दीपावली है और इस त्यौहार का भारत की अर्थव्यवस्था से पुराना नाता रहा है। इसलिए आज हम बात दीपावली और अर्थ व्यवस्था को केंद्र में रख कर चर्चा करेंगे। कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स की रिसर्च शाखा ने हाल ही में विभिन्न राज्यों के 20 शहरों में किए गए एक सर्वेक्षण में यह तथ्य सामने आया है कि दिवाली त्यौ्हार की बिक्री अवधि के दौरान उपभोक्ताओं द्वारा खर्च के माध्यम से अर्थव्यवस्था में लगभग 2 लाख करोड़ रुपये की पूंजी का प्रवाह हो सकता है। एक तथ्य यह उभर कर आया है कि देश के व्यापारियों एवं आयातकों ने चीन से आयात कम कर दिया है या बंद कर दिया है जिसके कारण भारतीय सामान के मांग बढ़ने में चीन को करीब 50 हजार करोड़ रुपये का व्यापार घाटा होने वाला है। एक और महत्वपूर्ण बदलाव यह है कि पिछले साल से उपभोक्ता चीनी सामान खरीदने में दिलचस्पी नहीं ले रहे हैं जिसके कारण भारतीय सामान के मांग बढ़ने लगी है। यानी लोकल फॉर वोकल का मंत्र अपना असर दिखा रहा है। आत्मक निर्भर भारत या मेक इंन इंडिया की बात की जाए भारतीय अर्थ व्यवस्था में बडे बदलाव देखने को मिल रहे हैं।

Anchor: Manoj Verma

Producer : Pardeep Kumar

Assistant Producer-Surender Sharma

Guest:

1. Praveen Khandelwal, Secretary General, Confederation of All India Traders (CAIT)

2-Dr Jayant Dasgupta, Former Ambassador, WTO

3- Santosh Kumar, Senior Consulting Editor, New India Samachar

Follow us on:
-Twitter: https://twitter.com/sansad_tv
-Insta: https://www.instagram.com/sansad.tv
-FB: https://www.facebook.com/SansadTelevi…
-Koo: https://www.kooapp.com/profile/Sansad_TV