Ekam Sat | एकम सत् – बौद्ध दर्शन | Episode – 07 | 13 January, 2022

बुद्धं शरणं गच्छामि, संघं शरणं गच्छामि। एक राजा के भिक्षुक बनने की घटना। पत्नी और पुत्र को सोता छोड़ सन्यासी बनने की घटना। आखिर क्या है संन्यास में ऐसा, कि राजमहल के सारे सुख और विलास बौने हो गए थे। सिद्धार्थ के बुद्ध बनने की कहानी। ईसा पूर्व 563 में नेपाल की तराई के कपिलवस्तु से निकले एक संन्यासी ने पूरे संसार को शांति और अहिंसा का पाठ पढ़ाया था। वे थे महात्मा बुद्ध। बिहार के गया के पास बोधगया में उन्हें ज्ञान मिंला था। आज दुनियां के 6 देशों का राज धर्म बौद्ध धर्म है। आबादी की दृष्टि से दुनिया में तीसरे स्थान पर बौद्ध है। डॉ. कर्ण सिंह बता रहे हैं कि क्या था गौतम बुद्ध के पास जिससे बड़े बड़े राजा भी बौद्ध बनने लगे थे। दिल्ली स्थित तिब्बत हाउस से डायरेक्टर वेन गेशे डोर डमडुल से जानिए बौद्ध धर्म की विशेषताएं।

Anchor- Dr. Karan Singh
Producer – Dr. Prasun Kumar Mishra

#EkamSat#Buddhism#Buddha

Follow us on:
-Twitter: https://twitter.com/sansad_tv
-Insta: https://www.instagram.com/sansad.tv
-FB: https://www.facebook.com/SansadTelevi…
-Koo: https://www.kooapp.com/profile/Sansad_TV